RRB General Knowledge(Hindi)

भारतीय रेलवे सामान्य ज्ञान

भारतीय रेल एशिया में सबसे बड़ी तथा विश्व में दूसरी सबसे बड़ी रेल व्यवस्था है।

रेलवे का मूल मंत्र सुरक्षा, संरक्षा एवं समय पालन है।

भारतीय रेल का tagline है – ” देश की जीवन रेखा “।

भारत में सर्वप्रथम रेल की शुरुआत 16 अप्रैल 1853 ईस्वी में मुंबई से थाने के बीच प्रारंभ हुई थी।

प्रथम विधुत रेल 3 फरवरी 1925 ईस्वी को मुंबई(V.T.) से कुर्ला के बीच चलाई गई थी।

डेक्कन क्वीन बिजली से चलने वाली प्रथम रेल थी।

भारतीय रेलवे एक्ट 1990 ईस्वी में पारित हुआ।

भारतीय रेल विश्व एवं भारत का सबसे बड़ा नियोक्ता एवं देश का सबसे बड़ा उपक्रम है।

भारतीय रेलवे बोर्ड की स्थापना मार्च 1905 में लॉर्ड कर्जन के समय की गई थी।

भारतीय रेल का राष्ट्रीयकरण 1950 में हुआ देश में पहली मेट्रो ट्रेन 24 अक्टूबर 1984 को कोलकाता में दम दम से टॉलीगंज तक चली। 

भारत की दूसरी मेट्रो सेवा दिल्ली में 24 दिसंबर 2000 ईस्वी को शाहदरा से तीस हजारी के बीच प्रारंभ हुई जिस की पहली महिला ऑपरेटर मीनाक्षी शर्मा है।

देश में सबसे लंबी दूरी तय करने वाली रेलगाड़ी विवेक एक्सप्रेस है जो डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी तक 4278 किमी दूरी तय करती है ।

रेलवे बजट को आम बजट से अलग 1924- 25 में आकवर्थ समिति के सिफारिश पर हुआ।
अंतिम अलग रेल बजट 2016 को आया था। 2017 से मात्र एक बजट आता है – आम बजट।

भारत का सबसे लंबा रेलवे प्लेटफार्म उत्तर प्रदेश का गोरखपुर (1366.3 मीटर ) है।

सबसे लंबी रेल सुरंग पीर पंजाल या बनिहाल रेल सुरंग (11.215 किमी )।

भारत का सबसे बड़ा रेलवे  यार्ड मुगलसराय में है, जो पूर्व -मध्य रेलवे में है।

भारत में “रेल परिवहन संघ संग्रहालय” नई दिल्ली में है ,तथा भारत में रेल परिवहन संघ संग्रहालय नई दिल्ली में है ,तथा “क्षेत्रीय रेल संग्रालय” मैसूर मै है।

भारतीय रेल में 73 डिवीजन है।

वर्तमान रेलवे में 17 जोन है, भारत में कर्मचारियों की भर्ती हेतु 19 रेलवे भर्ती बोर्ड है।

देश में   रेल शताब्दी 1953 में शुरू  हुई ,16 अप्रैल को भारतीय रेल दिवस  तथा 10 से 16 अप्रैल को रेल सप्ताह के रूप में मनाया जाता है।

भारतीय रेल की पहली गाड़ी गवर्नर लॉर्ड डलहौजी के शासन काल में चली ,जिसका नाम ‘ब्लैक ब्यूटी ‘था।

भारत के मेघालय राज्य में रेलवे मार्ग नहीं है

भारत में सिर्फ महिलाओं के लिए एक मेन मुंबई के चर्चगेट से बोरिवली तक चलती है।

भारत का पहला तथा दूसरा इंटीग्रल कोच फैक्ट्री क्रमशः पेराम्बुरी तथा कपूरथला में है।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.