भारत-बांग्लादेश सीमा पर ‘स्मार्ट-फेंसिंग’ लॉन्च

  •  भारत-बांग्लादेश सीमा पर स्मार्ट फेंसिंग (बाड़) सिस्टम की शुरुआत की. असम के धुबरी जिले में भारत-बांग्लादेश सीमा पर इस सिस्टम की शुरुआत की गई है. 

 

  • भारत-बांग्लादेश सीमा पर 61 किलोमीटर लंबे इस सीमावर्ती इलाके में भारत-बांग्लादेश सीमा पर व्यापक एकीकृत सीमा प्रबंधन प्रणाली के तहत ‘बॉर्डर इलेक्ट्रॉनिकली डोमिनेटेड क्यू-आर-टी सिस्टम BOLD-QIT  की शुरुआत के बाद से भारत बंग्लादेश सीमा पर कई तरीके के अपराधों पर काबू पाया जा सकेगा.

www.Jobsingovt.in

स्मार्ट फेंसिंग सिस्टम

  • स्मार्ट फेंसिंग सिस्टम में सेंसर लगे होते हैं, जिससे सीमाओं की प्रभावी निगरानी हो

 

  • धुबरी जिले के इस पूरे क्षेत्र को डाटा नेटवर्क पर काम करने वाली संचार, ओ एफ सी केबल्स, डी एमआर कम्युनिकेशन, दिन और रात निगरानी करने वाले कैमरों और घुसपैठ का पता लगाने वाली प्रणाली से कवर किया गया है. 

 

  • बॉर्डर पर बीएसएफ कंट्रोल रूम को फीडबैक प्रदान करते हैं और क्रॉस बॉर्डर क्रॉसिंग/ सीमावर्ती अपराधों की किसी भी संभावना को विफल करने के लिए बीएसएफ की क्विक रिएक्शन टीमों को सक्षम बनाते हैं.

 

  • असम के धुबरी जिले का 61 किलोमीटर लंबे सीमा क्षेत्र में सीमा की निगरानी बेहद मुश्किल है. खासतौर पर बरसात के मौसम में इसमें काफी ज्यादा दिक्कत आती है.

 

  • भारतीय सेना  बांग्लादेश के साथ 4,096 किलोमीटर लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा करती है. लगभग 61 किलोमीटर लंबे इस सीमावर्ती इलाके में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने इस सिस्टम की शुरुआत की है.

 

  • केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सितंबर 2018 में जम्मू में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पांच-पांच किलोमीटर की दो स्मार्ट बॉर्डर फेंसिंग पायलट परियोजनाओं का उद्घाटन किया था.For Job vacancies click here>>>> 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.