Aurangabad

महाराष्ट्र (Maharashtra ) के औरंगाबाद (Aurangabad) में ट्रेन से कटकर 17 लोगों की मौत ने एक बार फिर देश को​ हिलाकर रख दिया है. अभी तक की जानकारी के मुताबिक ये सभी मजदूर महाराष्ट्र के जलगांव में आयरन फैक्ट्री में काम करते थे. ये लोग औरंगाबाद से मध्यप्रदेश के लिए निकली स्पेशल ट्रेन को पकड़ना चाहते थे. इन सभी लोगों को उम्मीद थी कि वह भुसावल जाकर ट्रेन पकड़ लेंगे.

बताया जाता है कि करीब 45 किलोमीटर तक चलने के बाद सभी थक गए और ट्रैक पर ही आराम करने लगे. थकान की वजह से ज्यादातर लोगों को नींद आ गई और वह ट्रैक पर ही सो गए. इसी दौरान वहां से ट्रेन गुजरी और सभी लोग इसकी चपेट में आ गए. औरंगाबाद के एसपी मोक्षदा पाटिल ने बताया कि मारे गए सभी मजदूर भुसावन से स्पेशल ट्रेन के जरिए मध्य प्रदेश लौटना चाहते थे. ये सभी मजदूर मध्य प्रदेश के शहडोल के रहने वाले थे.

Source of News

गौरतलब है कि घटना शुक्रवार तड़के करमाड पुलिस स्टेशन थाने के अंतर्गत हुई. दक्षिण मध्य रेलवे के सीपीआरओ ने बताया, ‘घटना करमाड के नजदीक हुई. खाली मालगाड़ी प्रवासी मजदूरों के ऊपर से गुजर गई.

महाराष्ट्र दुर्घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख व्यक्त किया है. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘महाराष्ट्र के औरंगाबाद में रेल हादसे में जानमाल के नुकसान से बेहद दुखी हूं. रेल मंत्री पीयूष गोयल से बात की है, वह स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं. हर संभव सहायता प्रदान की जा रही है.’

आज 5:22 AM पर नांदेड़ डिवीजन के बदनापुर व करमाड स्टेशन के बीच सोये हुए श्रमिकों के मालगाड़ी के नीचे आने का दुखद समाचार मिला।

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने किया ट्वीट

औरंगाबाद रेलवे ट्रैक पर हुए हादसे को लेकर रेल मंत्री पीयूष गोयल ने ट्वीट करते हुए लिखा, आज सुबह 5:22 बजे नांदेड़ डिवीजन के बदनापुर व करमाड स्टेशन के बीच सो रहे श्रमिकों के मालगाड़ी के नीचे आने का दुखद समाचार मिला. राहत कार्य जारी है और इस पूरी घटना के जांच के आदे दे दिए गए हैं. दिवंगत आत्माओं की शांति हेतु ईश्वर से प्रार्थना करता हूं.’

For Job vacancies click here>>>>

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.